Black हैट SEO और White हैट SEO क्या है।

नमस्कार मित्रो …

हमारे ब्लॉग के सभी पोस्ट को सर्च इंजन में लाने के लिए seo की सेटिंग करना बहुत जरूरी होता है क्योंकि इसके बिना हमारा ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं मिल पाता है। जिसके कारण से ब्लॉगिंग में फैल हो जाना है।

हमारे ब्लॉग के लिए कीवर्ड बहुत जरूरी है। कीवर्ड का मतलब सर्च इंजन अपिमाइजेशन है। आज के इस पोस्ट में हम इसी के बारे में जानेंगे तो चलिए जानते हैं।

काले हैट seo और सफेद हैट seo क्या है।

कीवर्ड क्या है?

कीवर्ड का मतलब सर्च इंजन को अपिमाइजेशन है। इसी के कारण से हमारे ब्लॉग का पोस्ट सर्च इंजन में शो होता है। हम स्क्रिप्ट के बारे में फिर दूसरे पोस्ट में उल्टा करेंगे। इसी प्रकार तीन प्रकार के seo होते हैं काले हैट seo, ग्रे हैट seo और सफेद हैट seo लेकिन इस पोस्ट में हम काले हैट seo औऱ सफेद हैट seo के बारे में जानेंगे।

कीवर्ड की जानकारी सीखने के लिए शीर्ष 5 ब्लॉग

ब्लैक हैट स्क्रिप्ट क्या है

ब्लैक हैट seo वह तकनीक है जिसका उपयोग खोज इंजन में खोज करने के लिए किया जाता है। काली हैट खोजशब्द तकनीकों को आमतौर पर मानव पाठ के बजाय पहले सर्च बॉट्स की ओर से जाता है। यह Google द्वारा दंडित किए जाने का एक उच्च जोखिम उपचार करता है इसका मतलब यह है कि खोज इंजन को धोखा देना है। इस तकनीक का इस्तेमाल आमतौर पर रिटेलर, सब्सक्रिप्शन और बिजनेस बिजनेस पर ज्यादा किया जाता है।

ब्लैक हैट seo में उपलब्ध होते हैं।

  • , डुप्लिकेट सामग्री या “टिक की गई” सामग्री का उपयोग क रना।
  • लौ क्वालिटी बैकलिंक – , बहुत से लोग बैकलिंक बनाने के लिए वेबसाइट और सॉफ्टवेर का उपयोग करते हैं, जिसकी वजह से वो बेकार के बैकलिंक बना लेते हैं।
  • एक नकारात्मक अभियान के साथ एक प्रतियोगी को नीचे ले जाने की कोशिश करना या गलत तरीके से उन्हें या काले हैट उत्सव के लिए रिपोर्ट करना
  • कीवर्ड स्टफिंग: – हम अपने पोस्ट के अंदर अगर ज्यादा मात्रा में कीवर्ड का उपयोग करते हैं तो कीवर्ड स्टिंग के कारण हमारा ब्लॉग दंडित किया जा सकता है।

ब्लॉगिंग करने के 5 फायदे

सफेद हैश URL

Whaite हैट seo का मतलब यह होता है कि कोई पसंदीदा उपयोगकर्ता को उनकी खोज के अनुसार उन्हें पृष्ठ दिखया जाता है। शायद आपको पता न हो पर खोज इंजन में एल्गोरिदम को लगातार अपडेट किया जाता है ताकि लोगो को अच्छा कंटेंट मिले।

व्हाइट हैट seo ब्लैक हैट seo से बिल्कुल अलग है। क्योंकि काली हैट seo में हम तो अपने पोस्ट को जल्दी से रैंक करा सकते है लेकिन सफेद हैट seo में थोड़ा समय लगता है। सफेद हैट seo तकनीक सभी को उच्च-गुणवत्ता वाली सामग्री के साथ कार्बनिक खोज ट्रैफ़िक प्राप्त करने के लिए डिज़ाइन किया गया है सफेद हैट seo में शामिल हो सकते है जैसे-

  • मूल, लंबी-फॉर्म गुणवत्ता वाली सामग्री बनाना: – इसमें बहुत अधिक गुणवत्ता वाला कंटेंट होता है। जितना ओरिजनल होता है उतना ही लंबा होता है जैसा कि हमारी पोस्ट रैंक करती है।
  • गुणवत्ता की सूची का गठन: – हमारे पोस्ट के अंदर जितना रहता है, हमारी पोस्ट के समान रैंक करता है, बहुत ज्यादा होने के कारण हमारे ब्लॉग का पाउंस रेट कम होता है।
  • कीवर्ड: – पोस्ट को सर्च इंजन में लाने के लिए कीवर्ड बहुत जरूरी होता है हमे पोस्ट के अंदर जीतन अच्छा कीवर्ड का उपयोग करते हैं हमारी पोस्ट जितनी जल्दी रैंक करने का काबिलिटी रखता है। याद रहे कि हम पोस्ट के अंदर से ज्यादा 2.5% ही कीवर्ड रख सकते हैं।
  • अतिथि ब्लॉगिंग: – अतिथि ब्लॉगिंग की मदद से हम अपने ब्लॉग को रैंक करा सकते हैं। हम बड़े ब्लगर के ब्लॉग पर अतिथि ब्लॉगिंग कर के अपने ब्लॉग का ग्रेड ओर दा बढ़ा सकते हैं।

ब्लॉगर ब्लॉग के 5 प्रीमियम डिज़ाइन थीम

सफेद हैट seo और काले हैट seo के बारे में आप जानते हैं। काले हैट seo कुछ दिन के ही मेहमान होते हैं जबकि सफेद हैट seo हमेशा के लिए होता है। और ये हमारी पोस्ट को हमेशा रैंकिंग कराती रहती है। अगर आपको अभी भी कोई परेशानी हो रही है तो आप नीचे कमेंट करें।

तो दोस्तो मुझे उम्मीद है कि आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होगी अगर आपको भी कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर के पूछ सकते हैं। उम्मीद

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here